February 23, 2024
ताजा ख़बरेंप्रदेशमध्यप्रदेश

MP cabinet गठन का संदेश दिल्ली से चलेगी सरकार

मध्यप्रदेश में नए मंत्रिमंडल के विभाग का पूरा वितरण दिल्ली से हुआ है, प्रधानमंत्री और गृहमंत्री की सीधी निगरानी में तय किया गया कि कौन सा विभाग किसे मिले यही वजह है कि जगदीश देवड़ा को गृहमंत्रालय दिए जाने की खबर चल जाने के बावजूद यह तय हुआ कि फिलहाल इसे मुख्यमंत्री के पास ही रहने देना ज्यादा सही होगा. भाजपाकी प्रदेश राजनीति में मोहन यादव कनिष्ठ नहीं हैं तो उतने वरिष्ठ भी नहीं हैं जितने कि उनके मंत्रिमंडल के ही कुछ सदस्य हैं. इसी वजह से प्रदेश सरकार की न सिर्फ बुनावट बल्कि नियंत्रण भी शाह ने अपने हाथ में रखा है. नई चुनी हुई तीनों सरकारें अब दिल्ली से संचालित हैं. मंत्रिमंडल बनाने में समय समय लगने की वजह भी यही थी कि दोनों बड़े और व्यस्त नेताओं के समय निकाले बिना मंत्री तय नहीं किए जा सकते थे. विभागों को लेकर किसी प्रकार का कोई प्रतिरोध तक सामने नहीं आया है जबकि सच यह है कि कई मंत्री अपने कद घटाए जाने से कतई खुश नहीं हैं लेकिन शाह का इादेश है इसलिए चुप रहने के अलावा कोई चारा नहीं है. सरकार बनने से लेकर मंत्रियों के विभाग बंटवारे तक में एक ही संदेश है कि अब आदेश सीधे दिल्ली से आने हैं और उनसे यदि किसी की असहमति है तो वह सीधे दिल्ली से ही निपटे औी सीएम को सिर्फ वही करने दे जो ऊपर से कहा जाए.