June 19, 2024
अंतरराष्ट्रीयट्रेंडिंगताजा ख़बरें

pope बताएं आखिर कहा क्या था

पोप फ्रांसिस ने कुछ यहूदी परिवारों के अलावा उन लोगों से भी मुलाकात की जिनके परिवार अभी गाजा पट्‌टी में रह रहे हैं. इससे पोप संदेश यह देना चाहते थे कि उन्होंने दोनों पक्षों के दर्द को महसूस करने की कोशिश की है. पोप ने यह कहा भी कि उन्होंने दोनों पक्ष सुने और समझे. यहां तक तो सयब ठीक था लेकिन बाद में कुछ फिलिस्तीन समर्थकों ने कहा कि पोप ने इजराइल की तरफ से जारी हमले को जेनेासाइड यानी नरसंहार कहा. इस बात पर इजराइल की तरफ से तीखी प्रतिक्रिया आई और उनसे सीधे ही सवाल किया गया कि वे तो सिर्फ यह बताएं कि वे इजराइल के आत्मरक्षा के अधिकार को मानते हें या नहीं. हालांकि वेटिकन की ओर से कहा गया कि पोप ने सिर्फ मौजूदा हालात को युद्ध ये कहीं बढ़कर कहा लेकिन उसे गलत तरीके से यह बता दिया गया कि उन्होंने इसे आतंक कहा. वैसे पोप से मिलने आए लोगों में वे भी शामिल थे जिनके परिजन हमास की कैद में हें तो वे लोग भी आए थे जिनके परिजन गाजा पट्‌टी में अभी रह रहे हैं और होने वाले हमलों को झेल रहे हैं.