June 24, 2024
अंतरराष्ट्रीयट्रेंडिंगबिजनेस

Crude oil के लिए डॉलर के बजाए रुपया

यूनाइटेड अरब अमीरात से हुए एक समझौते के तहत भारत ने पहली बार कच्चे तेल के लिए भुगतान अपनी करंसी यानी रुपए से किया है. यही बात कई मायनों में ऐतिहासिक है और भारत के रुपए के दुनियाभर में चलने की तरफ पहला कदम भी. मई 2023 में श्ह समझौता किया गया था और इसी के तहत अबूधाबी नेशनल ऑइल कंपनी को इंडियन ऑइल कंपपनी ने रुपयों में भुगतान किया था. रुस के कुछ बिल भी रुपयों में ही भुगतान किए जाने के बाद से यह तय हो गया है कि बाजार में डॉलर और यूरो जैसी करंसी को टक्कर देने का माद्दा भारत के रुपए ने भी हासिल कर लिया है. दरअसल भारत की पहले युद्ध के दौरान कच्चारा तेल रुस से खरीदने की नीति पर ही पश्चि देश हैरान हो रहे थे और अब रुपए के इस ग्लोबल प्रभाव पर भी उनकी तिरछी नजरें हैं लेकिन यह कदम भारत के लिए बहुत बड़ा कदम है.