February 22, 2024
ट्रेंडिंगताजा ख़बरेंबिजनेसराष्ट्रीय

इलेक्ट्रॉनिक्स का निर्यात पिछले चार सालों में तीन गुना बढ़ा

वर्ष 2018-19 में इलेक्ट्रॉनिक्स का निर्यात जहां 61,090 करोड़ रुपए के आसपास था वहीं पिछले चार साल में यह बढ़कर 2022-23 में 1.9 लाख करोड़ रुपए तक पहुंच गया है और अगले पांच साल में यह और भी तेजी यसे बढ़ने की संभावना जताई जा रही है. केंद्रीय आईटी और रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव के अनुसार 2025-26 तक इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री 300 बिलियन डॉलर की बनाए जाने की योजना है और इसमें एक बड़ा भाग मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग से होना संभावित है. उन्होंने बताया कि भारत में इस समय बिक रहे 99.2% स्मार्टफोन भारत में ही बने हुए हैं और यह प्रोडक्शन 9 साल में करीब 20 गुना बढ़ गया है. मोबाइल फोन प्रोडक्शन इंडस्ट्री का मार्केट 2014-15 में लगभग 19,000 करोड़ का हुआ करता था जो अब 3.5 लाख करोड़ से ऊपर का हो चुका है. 22-23 में अकेले एपल ने 5 बिलियन डॉलर से अधिक का इलेक्ट्रॉनिक निर्यात किया. भारत के स्मार्टफोन निर्यात में एपल का 62% हिस्सा है जबकि सैमसंग ने 22-23 के दौरान चार बिलियन के स्मार्टफोन निर्यात किए. गूगल कंपनी भी अपना स्मार्टफ़ोन भारत में बनाने जा रही है. शाओमी, ओप्पो और वनप्लस भी भारत में मोबाइल बना रहे हैं.प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव (PLI) स्कीम के चलते भारत में स्मार्टफोन बनाना आसान किया गया है और इसका असर अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के निर्माण पर भी नजर आया है.