February 24, 2024
ट्रेंडिंग

Fact Checker ने ही फर्जी पत्र वायरल करा दिया

खुद को फैक्ट चेकर कह कर नफरत फैलाने की कोशिशों में लगातार लगे रहे वाले मोहम्मद जुबैर खुद ही फैक्ट चेक में जालसाजी करने वाले साबित हो गए. पिछले दिनों कांग्रेस के नेता प्रमोद कृष्णम ने प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की और उनसे मिलने के बाद इंटरव्यू में उनकी खूब तारीफ की. जुबैर को लगा कि यह अच्छा मौका है जब आचार्य प्रमोद के बारे में खबर फैलाई जा सकती है लिहाजा उन्होंने एक फर्जी पत्र के साथ अपने एक्स अकाउंट पर लिखा कि दो साल बाद ही सही कांग्रेस ने आचार्य प्रमोद को पार्टी से निकाल ही दिया. इस बात की पुष्टि कांग्रेस की तरफ से नहीं हो पाने पर जब लोगों ने पत्र को गौर से देखा तो उसके फर्जी होने में कोई संदेह नहीं रहा गया और इसी बीच आचार्य प्रमोद की ओर से भी यह बताया गया कि कांग्रेस ने कम से कम अभी तक तो ऐसा कोई कदम उनके विरोध में नहीं उठाया है. जो निकाले जाने वाला कथित पत्र है उसमें न जारी करने वाले का नाम ही सही है न जारी करने की तारीख और न ही पता. हद तो यह कि किन्हीं राव साहब के नाम से जारी किए गए इस पत्र में जगह का नाम वह दे दिया गया है जो ब्रिटिश प्रधानमंत्री का आवास है.