June 17, 2024
प्रदेश

MP गान के लिए खड़े होना जरुरी नहीं

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव ने 1 नवंबर 2022 से चली आ रही उस प्रथा को खत्म कर दिया है जिसमें मध्यप्रदेश गान के लिए उसी तरह का सम्मा दिया जाना जरुरी था जैसा राष्ट्रगान के लिए दिया जाता है. यह प्रथा शिवराजसिंह चौहान के मुख्यमंत्री रहते शुरु की गई थी कि जब मध्यप्रदेश गान बजे तो खड़े होकर इसे उसी तरह सम्मान देना होगा जैसा राष्ट्रगान या राष्ट्रगीत को दिया जाता है लेकिन मोहन यादव ने यूपीएससी के एक कार्यक्रम में यह गान बजने पर सभी लोगों को बैठ जाने का इशारा करते हुए बाद में कहा कि मध्यप्रदेश गान के लिए न राष्ट्रगान जैसा सम्मान दिए जाने की जरुरत है और न ही इसके लिए खड़े होना आवश्यक है. मोहन यादव ने इस कार्यक्रम में अपने उद्बोधन में कहा कि कोई भी दूसरा गीत चाहे वह मध्यप्रदेश गान ही क्यों न हो राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत के बराबर सम्मान का हकदार नहीं हो सकता.