February 23, 2024
अंतरराष्ट्रीयट्रेंडिंगताजा ख़बरें

appeal पूर्व नौसेनिकों की विचार अर्जी स्वीकार

भारत के 8 पूर्व नौसैनिकों की मौत की सजा पर कतर की अदालत ने अपील अर्जी ले ली है जिस पर जल्द ही सुनवाई की संभावना है. 26 अक्टूबर 2023 को कथित जासूसी के आरोप में इन नौसेनिकों को मौज की सजा सुनाई गई थी. सजा के खिलाफ भारत की कानूनी टीम ने कानूनी विकल्पों पर विचार अपील दायर की. विदेश मंत्रालय प्रवक्ता अरिंदम बागची के अनुसार हम कतर के अधिकारियों के संपर्क में हैं और सभी कानूनी और दूतावास संबंधी सहायता चल रही हैं. सजा पाए इन सभी भारतीयों के परिजनों के भी संपर्क में सरकार लगातार बनी हुई है. विदेश मंत्रालयकी ओर से कहा गया प्रक्रिया और फैसले को कतरी पक्ष ने गोपनीय रखा और आरोपों तक को सार्वजनिक नहीं किया गया जबकि मीडिया रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि इन पूर्व सैनिकों को सुनाई गई है. 30 अगस्त 2022 को इन लाेगों को गिरफ्तार करते समय गिरफ्तारी की वजह मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप बताई गई थीा. ये सभी दोहा की एक प्राइवेट कंपनी में टेक्नोलॉजी और कंसल्टेंसी का काम करने वाली कंपनी के लिए काम कर रहे थे. लगाते हुए इन्हें हिरासत में ले लिया था. बाद में जासूसी के आरोप बताए गए. नौसेना से सेवानिवृत्त ये लोग पिछले 5 सालों से एक कंपनी में काम कर रहे थे जो मिडिल-ईस्ट के एक बड़े मिलिट्री अधिकारी की बताई जाती है.