June 24, 2024
अंतरराष्ट्रीय

Iran से लड़कर क्या जताना चाहता है पाकिस्तान

ईरान ने पाकिस्तान के कुछ इलाकों में हमला कर बताया कि उसने कुछ आतंकी अड्‌डे नष्ट किए हैं, थोड़ा समय लेने के बाद पाकिस्तान ने ईरान के एक दो इलाकों पर मिसाइल दाग कर कहा कि उदसने भी आतंकी ठिकानों को ही नष्ट किया है. जिस तरह से पाकिस्तान और ईरान अब इन दो हमलों के बाद आमने सामने आ गए हैं उसे लेकर चीन से लेकर तुर्की तक सभी चिंता में हैं क्योंकि ईरान और पाकिस्तान के बीच 900 किलोमीटर की सीमारेखा साझा होती है और जिस तरह से दोनों हमलावर हैं उससे यह लड़ाई बड़े स्तर पर पहुंचती लग रही है. तुर्की और चीन पाकिस्तान को समझाइश दे रहे हैं लेकिन जवाबी हमले के बाद यह साफ हो गया है कि अब इसमें दो खेमे होना तय है जिसमें शिया सुन्नी वाला फैक्टर भी काफी बड़ा होगा. चूंकि ईरान शिया बहुल है और उसकी सुन्नी बहुल इराक से लंबी दुश्मनी चली आ रही है इसलिए इराक के भी इस में कूद पड़ने की संभावना चल पड़ी है और यदि ऐसा हुआ तो बात दूसरे उन मुल्कों की भी आ जाएगी जहां मुस्लिम आबादी में किसकी अधिकता है उस आधाार पर इस मामले में स्टैंड लिया जाएगा. ईरान, इराक और पाकिस्तान ही इसमें शामिल हुए तो भी यह मामला एशिया से बढ़कर पूरी दुनिया के लिए सिरदर्द बन जाएगा.