February 23, 2024
अंतरराष्ट्रीयट्रेंडिंगताजा ख़बरें

henry किसिंजर नहीं रहे

अमेरिका के विदेश मंत्री रहे सौ वर्ष के किसिंजर 29 नवंबर को नहीं रहे, उन्हें अमेरिका में काफी सम्मान से देखा जाता है और उन्हें महान डिप्लोमेट मानने वालों की भी कमी नहीं है. वे 1973 से 1977 के बीच अमेरिकी विदेश मंत्री रहे और उन्हें नोबल श्सांति पुरस्कार भी मिला लेकिन पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी और भारतीयों के लिए भद्दे शब्दों का इस्तेमाल करने की बात सामने आने के बाद से भारत में उन्हें उतना अच्छा नहीं माना जाता है जबकि 2005 में वे अपने शब्दों के लिए माफी मांग चुके थे.

किसिंजर ने रिचर्ड निक्सन और जेराल्ड फोर्ड के कार्यकाल में विदेश मंत्रालय संभाला था. 1973 में इजरायल और अरब देशों के बीच युद्ध और वियतनाम युद्ध में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. अमेरिकी- चीन संबंध ठीक करने में भी उनकी भूमिका रही. उनकी डिप्लोमेसी को शटल डिप्लोमेसी कहा जाता था क्योंकि वे लगातार देशों के दौरे करते रहते थे. भारत के मामले में
किसिंजर और निक्सन इस बात से खफा थे कि बांग्लादेश को आजाद करवाने के लिए बनाई गई गुरिल्ला फ़ौज को भारत सहायता दे रहा है, इसी को लेकर उन्होंने भारतीयों और खासतौर पर इंदिरा गांधी को बुरे शब्द कहे थे.