June 19, 2024
ट्रेंडिंगराष्ट्रीय

Ayodhya के राजा ने कहा खुश हूं कि सीता मां ने श्राप वापस ले लिया

देश में लोकतंत्र आने के बाद से भले राजा महाराजाओं का रुतबा खत्म हो गया हो लेकिन पदवी तो अब भी चली ही आ रही है. अयोध्या के राजा की अनौपचारिक पदवी फिलहाल बिमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्रा के पास है और वे पिछले कुछ समय में हो रहे अयोध्या के विकास से बेहद खुश हैं. मिश्रा का कहना है कि ऐसी मान्यता रही है कि सीताजी ने अयोध्या को कभी तेज प्रगति न करने का श्राप दिया था लेकिन मुझे खुशी है कि मां ने वह श्राप अब वापस ले लिया है और जिस तरह पिछले कुछ समय में यहां तरक्की हुई है मेरा पूरा विश्वास है कि यह सबसे बड़े आस्था के केंद्र में से एक होगा. जिस अयोध्या में कुछ समय पहले तक एक ठीकठाक सी होटल नहीं थी वहां अब 100 के करीब फाइव स्टार होटल बनाने की अर्जियां लगी हुई हैं. राम जन्मभूमि आंदोलन में भी इस परिवार ने भी बढ़चढ़कर हिस्सा लिया थ्साा और अब जब मंदिर तैयार है तब बिमलेंद्र मिश्रा की खुशी देखते ही बनती है. उनका कहना है कि जिस तरह के हालात 1990 में थे तब हमें इस बात का कतई भरोसा नहीं था कि हम राम मंदिर का उद्घाटन अपनी आंखें से देख सकेंगे लेकिन आज वह घड़ी इतनी करीब है जब हम इसके उद्घाटन के साक्षी बनने जा रहे हैं.