May 20, 2024
इंदौरप्रदेशमध्यप्रदेश

चुनिए फ्यूज़ बल्ब और चुके हुए कारतूस में से…

एक नेता ने दूसरे को फ्यूज़ बल्ब कह दिया और दूसरे ने पहले को पलटवार मे कहा कि उनका क्या वो तो चुका हुआ कारतूस हैं. अब इतने बड़े बड़े नेता हैं तो मैं इन्हें सच कहने वाला ही मानता हूँ और इस हिसाब से देखें तो मुझे चुके हुए कारतूस और फ्यूज़ बल्ब के बीच में से किसी एक को चुनना है. नेता अपनी प्रजाति को अच्छी तरह जानते हैं इसलिए सही और सटीक उपमाएँ एक दूसरे को देते हैं. यदि आप किसी से उम्मीद लगाए बैठे हों कि इन्हें चुन लिया तो उजाला कर देंगे तो फ्यूज़ बल्ब वाला बयान याद कर लीजिएगा और यदि किसी से आप यह आशा लगाए हों कि ये बंदूक की गोली जैसी रफ़्तार से काम करा देंगे तो चुका हुआ कारतूस वाला जुमला याद रखिएगा. चूँकि आप वोट देने के अलावा कुच्छ और ज़्यादा कर नहीं सकते हैं इसलिए वोट ज़रूर देने जाएँ क्या पता चुके हुए कारतूस से दो चार दस ग्राम पीतल ही निकल आए या फ्यूज़ बल्ब से ही दो चार रुपये की कमाई ही निकल आए. बस इससे ज़्यादा की उम्मीद मत लगाइएगा.