February 24, 2024
अंतरराष्ट्रीय

saudi के म्यूजिक फेस्टिवल से भी नाराजी

कई मुस्लिम देशों ने मिलकर तय किया था कि इजराइल का बहिष्कार किया जाए और उससे सारे संबंध तोड़ लिए जाएं लेकिन जब सऊदी अरब की बारी आई तो उसने संबंध तोड़ने की बात से इंकार कर दिया. अब इसे लेकर सऊदी अरब की हर बात पर ये देश नाराजी व्यक्त कर रहे हैं इसी सिलसिले में सऊदी में चल रहे स्पोर्ट्स एंड म्यूजिक फेस्टिवल को भी कट्टरपंथी गलत बता रहे हैं. इनका कहना है कि एक तरफ तो फिलिस्तीन के लोग इजराइल के हमलों में मारे जा रहे हैं और दूसरी तरफ सऊदी अरब को नाच गाने के कार्यक्रमों से ही फुरसत नहीं है. दरअसल, सऊदी अरब में MDLBEAST साउंडस्टॉर्म कार्यक्रम साल 2019 से हर साल होता आ रहा है। इसमें कई नामी कलाकार शामिल होते हैं। इनमें डेविड गुएटा, मार्टिन गैरिक्स, स्टीव आओकी, ब्रूनो मार्स, डीजे खालिद, अम्र डायब, नैन्सी अजराम जैसे नाम भी हैं।

कार्यक्रम करवाने वाली कंपपनी के सीईओ रमज़ान अल्हरतानी इसे वैश्विक कलात्मक मंच बताते हुए कहते हैं कि इससे मध्य पूर्व में संगीत, कला और संस्कृति को फिर से परिभाषा मिली है और विविध संगीत संस्कृतियों को मिलाने का मौका तो मिला ही है. दूसरी तरफ इस कार्यक्रम के विरोध में कई कटटरपंथी देश हैं जिनका मानना है कि सऊदी अरब जैसे इस्लामी मुल्क में गीत-संगीत और नृत्य का कार्यक्रम इस्लाम के हिसाब से ठीक नहीं है और फिर यह ऐसे समय किया जा रहा है जब इजराइल के हमलों में कई फिलिस्तीनियों की जान रोज जा रही हैं. कुछ लोग इस बात का भी हवाला देते हैं कि सऊदी इस्लाम की सबसे पाक मस्जिद काबा का कस्टोडियन है, इसलिए भी उसे ऐसे आयोजनों से बचना चाहिए.