April 24, 2024
राष्ट्रीय

पायलट के चुनावी हलफनामे की हलचल

अपना पर्चा दाखिल करते हुए किया सचिन पायलट ने यह जानकारी दी कि उनका तलाक हो चुका है और इसके बाद से ही इस बात पर हंगामा मचा हुआ है कि इतने मीडिया वालों के बीच , सक्रिय राजनीति का बड़ा चेहरा होते हुए और इतना हाइ प्रोफाइल मामला होते हुए भी किसी को खबर ही नहीं लगी. शादी वाले कॉलम में तलाकशुदा लिखा देखा गया तब पता चला कि 2018 के चुनावी हलफनामे तक में जिन सारा पिता फारुख अब्दुल्ला का जिक्र वे पत्नी की तरह करते थे वे अब उनकी पत्नी नहीं हैं.  उमर अब्दुल्ला की बहन सारा के लिए शादी की राह आसान न थी क्योंकि सबसे ज्यादा विरोध उन्हीं के परिवार की तरफ से आया था. वह भी तब जब उनके परिवार में पिता और भाई दूसरे धर्माें से अपनी पत्नी ला चुके थे. 19 साल पहले जब सारा ने सचिन पायलट से शादी की थी तो उस समय परिवार ने उनका साथ नहीं दिया था। शादी में सारा की तरफ से कोई नहीं आया था। दरअसल सारा और सचिन का प्यार तब शुरु हुआ जब दोनों लंदन में थे. सारा को फारुख ने ब्रिटेन इसलिए भेज दिया था क्योंकि कश्मीरी नरंसंहार और पलायन का जिम्मेदारा उन्हें माना जा रहा था और उन्हें लग रहा था कि उनके परिवार पर खतरा है जबकि सचिन वहां पढ़ाई करने गए हुए थे. हालांकि शादी हो जाने के बाद फारुख का भरोसा धीरे धीरे सचिन पर आ गया और उन्हें स्वीकारा जाने लगा लेकिन बीच बीच में खबरें आती रहीं कि सचिन और सारा के बीच अनबन चल रही है, ठीक ऐसी ही खबरें सचिन की बहन पायल और उनके पति यानी सचिन के साले साहब उमर अब्दुल्ला को लेकर भी आ रही थीं. अब सचिन के हलफनामे से साफ हो गया है कि उनको लेकर आ रही खबरों में सच्चाई छुपी हुई थी.