April 25, 2024
राष्ट्रीय

एयर इंडिया की यह निशानी भी खत्म होगी

अब एयर इंडिया बतौर निशानी खत्म होने का दौर है और इसका अगला कदम है नरीमन पाइंट स्थित एयर इंडिया बिल्डिंग का सचिवालय के एक्सटेंशन बतौर काम के लिए दे दिया जाना. एयर इंडिया की नरीमन पाइंट स्थित बिल्डिंग अब सचिवालय के एक्सटेंशन के तौर पर काम करने की राह खुल रही है. दरअसल यह इमारत 1974 में बनाई गई थी और जमीन सरकारी ही थी. अब एकनाथ शंदे सरकार ने तय किया है कि इस 22 मंजिला इमारत में वे सरकारी दफ्तर खोले जाएंगे जिनके लिए सरकार को सैकड़ों करोड़ रुपए अतिरिक्त खर्च करने पड़ते हैं. इस बिल्ड़िंग के लिए सरकार को 1600 करोड़ से ज्यदा खर्च करने होंगे जिनमें बकाया टैक्स और अन्य देनदारियों का भी हिसाब होना है. इसके बदले सरकार को लगभग 500000 वर्गफीट के आसपास का क्षेत्र मिल जाएगा. एयर इंडिया की यह इमारत कई मायनों में खास है और मुंबई की बड़ी पहचानों में से एक है. 1974 में इस बिल्ड़िंग को न्यूयॉर्क की प्रसिद्ध आर्किटेक्चरल फर्म जॉन्सन/बर्गी ने बनाया था. फिलहाल इसमें जीएसटी और इंकम अक्स जैसे कई दफ्तर चलते हैं और एयर इंडिया के पास इसके सिर्फ दो फ्लोर हैं. इसे 2018 से बेचने के लिए रखा गया था जिसे अब राज्य सरकार हाथ में ले रही है.