April 25, 2024
राष्ट्रीय

एक गलती की सजा भुगत रहे 27 हजार लोग

झारखंड में एक पूरे समाज को पिछले छह सालों से जाति प्रमाण पत्र नहीं मिल पा रहा है क्योंकि धुनिया समुदाय के 27 हजार से ज्यादा लोगों को सॉफ्टवेयर में हिंदू से मुस्लिम बता दिया गया और इसके चलते उनकी सारी सरकारी प्रक्रिया रुक गई हैं. वैसे कोई भी यह बता पाने की स्थिति में नहीं है कि आखिर इतने बड़े समुदाय को अचानक हिंदू से मुस्लिम बता देने का जिम्मेदार कौन है.गोड्‌डा जिले में विभिन्न क्षेत्रों में बसने वाले इस समुदाय के लगभग हर सरकारी काम में जो सबसे बड़ा अड़ंगा लग रहा है वह जाति प्रमाण पत्र का ही है क्योंकि अब उन्हें पिछड़ा वर्ग में गिना ही नहीं जा रहा है और गड़बड़ के चलते उन्हें किसी तरह का जाति प्रमाण पत्र भी नहीं दिया जा पा रहा है.