February 24, 2024
Uncategorized

संसद में राम मंदिर पर पेश हुआ धन्यवाद प्रस्ताव, संसद में पी एम मोदी ने भाषण में बोली बड़ी बातें

संसद में आज राम मंदिर को लेकर सरकार के धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा हुई , अधिनियम 193 के तहत यह चर्चा चली लोकसभा में BJP की तरफ से बागपत से सांसद सत्यपाल मलिक ने चर्चा की शुरुआत की । उन्होंने कांग्रेस की तत्कालीन UPA सरकार को घेरते हुए कहा कि तब राम को काल्पनिक बता दिया गया था, वहीं कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने कहा कि महात्मा गाँधी के आखिरी शब्द ‘हे राम’ थे और नाथूराम गोडसे के जरिये पलटवार किया । बाद 17वीं लोकसभा के अनुभव पर चर्चा हुई और सांसद के सदस्यों ने अपने अपने अनुभव साँझा किए।

नई संसद की शुरुआत नारी शक्ति वंदन अधिनियम से हुई – पी एम मोदी

पी एम मोदी ने चर्चा के दौरान कहा कि हम 75 साल तक अंग्रेजों द्वारा दी गई संहिता में जीते रहे , हम गर्व से अपनी नई पीढी को कहेगे कि आने वाली पीढी न्याय संहिता में जिएगी , यही सच्चा लोकतंत्र है। अध्यक्ष जी , आपको इसलिए भी धन्यवाद देना चाहूंगा कि नई संसद की शुरुआत नारी शक्ति वंदन अधिनियम से हुई है , जब भी इस नए सदन की चर्चा होगी तब नारी शक्ति वंदन अधिनियम का जिक्र होगा। जब अधिनियम पास हुआ था , उसी क्षण नए सदन की पवित्रता का अहसास हो गया था ।

हमने जम्मू – कश्मीर के लोगों तक सामाजिक न्याय पहुंचायाः- पी एम मोदी

जम्मू- कश्मीर के लोगों को सामाजिक न्याय से वंचित रखा गया था आज हमें संतोष है कि सामाजिक न्याय जम्मू कश्मीर के लोगो तक पहुँचाया है । आतंकवाद नासूर बन गया था, देश के सीने पर गोलियां चलाता था । माँ भारती की धरा आए दिन रक्तरंजित हो जाती थी । इसी सदन में हमने आतंकवाद के विरुद्ध सख्त कानून बनाए , जिससे आतंक से पीडित लोगों को बल मिला । भारत के पूर्ण रुप से आतंकवाद से मुक्ति का सपना भई पूरा होकर रहेगा – मोदी

पी एम मोदी ने जी 20 की अध्यक्षता का भी जिक्र किया

ये भी सही है कि इस कालखंड में जी 20 की अध्यक्षता भारत को मिली । भारत को बहुत सम्मान मिला । देश के हर राज्य ने अपने अपने तरीके से विश्व के सामने भारत का सामर्थ्य और अपने राज्य की पहचान प्रस्तुत की इसके अलावा आपके (स्पीकर) के नेतृत्व में जी -20 सम्मेलन हुआ । आपने भारत की लोकतांत्रिक व्यवस्था विश्व के सामने रखी ः- पी एम मोदी