अहमदाबाद पहुंचे डोनाल्ड ट्रंप

अहमदाबाद पहुंचे डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, अपनी पत्नी मेलानिया, बेटी इवांका, दामाद जेरेड कुशनेर और शीर्ष अधिकारियों के साथ अहमदाबाद हवाईअड्डे पर पहुंच गए हैं। यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रोटोकॉल तोड़कर उनका स्वागत करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद मोदी ने ट्रंप के ट्वीट के जवाब में लिखा, अतिथि देवो भव:।

अहमदाबाद के बाद ट्रम्प ताजमहल देखने आगरा जाएंगे। 25 फरवरी को ट्रम्प का राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत होगा। अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ मोदी की हैदराबाद में औपचारिक मुलाकात होगी। दोनों नेता संयुक्त बयान भी जारी करेंगे।

अहमदाबाद में क्या करेंगे

  • सुबह 11:40 बजे: अमेरिकी राष्ट्रपति अहमदाबाद पहुंच चुके हैं। ट्रम्प-मेलानिया के लिए 150 फीट लंबा रेड कारपेट बिछाया गया है। एयरपोर्ट के अंदर एक हजार कलाकार पारंपरिक नृत्य करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में ट्रम्प को गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा।
  • 12:00 बजे: 22 किमी लंबा रोड शो शुरू होगा। 28 राज्यों की झांकियां सजाई गई हैं। रोड शो का नाम ‘इंडिया रोड शो’ रखा गया है। एयरपोर्ट से ट्रम्प, गांधी आश्रम जाएंगे।
  • दोपहर 12.20 बजे: ट्रम्प गांधी आश्रम पहुंचेंगे। आश्रम दर्शन के बाद कुछ देर साबरमती नदी के किनारे रुकेंगे। आश्रम में ट्रम्प परिवार का स्वागत सूत की माला से किया जाएगा। उसके बाद ट्रम्प दंपती हृदयकुंज वाटिका जाएंगे। गांधी जी को श्रद्धांजलि देने के बाद मोटेरा स्टेडियम रवाना होंगे।
  • 1.05 बजे: ट्रम्प और मोदी स्टेडियम में 1 लाख से ज्यादा लोगों के बीच 3 बजे तक रहेंगे। मोटेरा स्टेडियम में नगालैंड, असम समेत कई राज्यों के कलाकार गीत-संगीत पेश करेंगे। कैलाश खेर सूफी गायन पेश करेंगे। उसके बाद मोदी स्वागत भाषण देंगे। वह अमेरिका-भारत संबंधों पर बात करेंगे। इसके बाद राष्ट्रपति ट्रम्प का भाषण होगा। आखिर में मोदी और ट्रम्प खुली जीप में स्टेडियम का चक्कर लगाएंगे।
  • 3:30 बजे: ट्रम्प-मेलानिया आगरा रवाना होंगे। उनका आधे घंटे तक ताजमहल देखने का कार्यक्रम है। शाम 6:45 बजे ट्रम्प दिल्ली के लिए उड़ान भरेंगे। 7:30 बजे दिल्ली पहुंच जाएंगे। उसके बाद मंगलवार सुबह 10 बजे राष्ट्रपति से मिलेंगे।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

ट्रम्प परिवार 5 टियर सुरक्षा घेरे में रहेंगे। अमेरिका के प्रथम परिवार की अंदरूनी सुरक्षा का पूरा जिम्मा अमेरिकी सीक्रेट सर्विस के हवाले रहेगा और इन तक पहुंच केवल भारतीय लायजनिंग अधिकारियों की ही होगी। दूसरे चक्र में एनएसजी, चेतक कमांडो, अर्ध सैनिक बल और अंत में बाहरी सुरक्षा व देखरेख की जिम्मेदारी गुजरात, उत्तर प्रदेश और दिल्ली पुलिस के 25 हजार जवानों की रहेगी। ट्रम्प की हर घंटे की सुरक्षा पर करीब डेढ़ करोड़ और 36 घंटे की यात्रा में सुरक्षा पर 100 करोड़ रुपए खर्च होंगे।

अमेरिकी खुफिया एजेंट कड़े प्रोटोकॉल का पालन करते हुए राष्ट्रपति के सांकेतिक कॉल साइन तक को साझा नहीं करते। अफसर समानांतर और सुरक्षित वायरलेस प्रणाली के जरिए आवागमन की बारीकियों का संचालन करेंगे। ये कॉल साइन सुरक्षा में तैनात अधिकारियों व कर्मचारियों से अंतिम समय में शेयर किए जाएंगे। काफिला जहां से भी काफिला गुजरेगा, उसके ताकतवर जैमर्स आसपास के सभी तरह के मोबाइल और वायरलेस सिग्नल कुछ समय के लिए बंद कर देंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *