आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में आयकर विभाग की छापेमारी, 2000 करोड़ से ज्यादा की रकम का खुलासा

आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में आयकर विभाग की छापेमारी, 2000 करोड़ से ज्यादा की रकम का खुलासा

आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) और तेलंगाना (Telangana) में आयकर विभाग (Income Tax Raids) की छापेमारी से हड़कंप मचा हुआ है. बीते हफ्ते की गई रेड में तीन इन्फ्रास्ट्रक्चर फर्म के पास से 2000 करोड़ रुपये से ज्यादा की अघोषित संपत्ति का पता चला. 6 फरवरी को यह छापेमारी हैदराबाद, विजयवाड़ा, कुड्डापाह, विशाखापटनम, दिल्ली और पुणे में की गई थी. इन फर्म्स के 40 से ज्यादा ठिकानों पर छापा मारा गया था.

विभाग की ओर से एक प्रेस रिलीज जारी कर बताया गया कि जांच में एक बड़े रैकेट का खुलासा हुआ है, जो बोगस सब-कॉन्टैक्टर और बोगस बिलिंग के जरिए रुपयों की हेरफेर कर रहे थे. प्रेस रिलीज में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि जांच के दौरान ई-मेल, व्हाट्सएप मैसेज और अस्पष्टीकृत विदेशी लेनदेन के अलावा कई गुप्त दस्तावेजों और अन्य कागजातों को भी जब्त किया गया है.

एक प्रमुख व्यक्ति के पूर्व-निजी सचिव सहित करीबी सहयोगियों के ठिकानों पर भी तलाशी अभियान चलाया गया था. बताया जा रहा है कि वहां से भी मिले सबूतों को जब्त कर लिया गया है. जांच में पता चला है कि इन्फ्रास्ट्रक्चर कंपनियों ने गैर-मौजूद/फर्जी संस्थाओं को सब-कॉन्ट्रैक्ट पर काम दिया था.

शुरूआती अनुमान यह दावा करता है कि लेनदेन के माध्यम से 2,000 करोड़ रुपये से अधिक की रकम को एक ओर से दूसरी ओर भेजा गया. इस मामले में छोटी इकाइयों का भी इस्तेमाल किया गया, जो दो करोड़ रुपये से कम टर्नओवर वाली थीं. जांच में कई इकाइयों का पता या तो गलत पाया गया या फिर वह शेल फर्म्स थीं. एक समूह से जुड़ी कंपनी पैसों के अघोषित लेनदेन को लेकर संदिग्ध पाई गई है. छापेमारी में 85 लाख रुपये कैश और 71 लाख रुपये कीमत की ज्वैलरी जब्त की गई है. 25 बैंक लॉकर्स को भी खंगाला जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *