सरकार सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक से अप्रैल में 4.5 करोड़ वैक्सीन डोज और खरीदेगी, अभी 1.5 करोड़ डोज का ऑर्डर


केंद्र सरकार ने कोरोनावायरस वैक्सीन का पहला ऑर्डर 1 करोड़ 50 लाख डोज का दिया है। 1 करोड़ 10 लाख डोज पुणे की सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) से खरीदे जाएंगे, वहीं 38 लाख 50 हजार डोज का ऑर्डर हैदराबाद की भारत बायोटेक को दिया है। वैक्सीन की पहली खेप सभी सेंटरों तक 14-15 जनवरी तक पहुंच जाएगी।

भारत में 16 जनवरी से वैक्सीनेशन शुरू होने वाला है। सरकार की ओर से सरकारी कंपनी एचएलएल लाइफकेयर वैक्सीन के डोज खरीदेगी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कोवीशील्ड की कीमत 220 रुपए प्रति डोज रहेगी, जबकि कोवैक्सिन का एक डोज 309 रुपए का होगा। इसमें सभी टैक्स शामिल हैं। सरकार अप्रैल में सीरम इंस्टीट्यूट से कोवीशील्ड के और 4 करोड़ 50 लाख डोज खरीदने वाली है। यह 1 करोड़ 10 लाख डोज के ऑर्डर के अतिरिक्त होगा।

पहले फेज में तीन करोड़ हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन लगाई जानी है। इसके बाद 27 करोड़ हाई-रिस्क ग्रुप में शामिल किए गए लोगों को वैक्सीन लगेगी। इस ग्रुप में 50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के साथ ही इससे कम उम्र के हाई-रिस्क में शामिल लोग भी रहेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की है कि पहले फेज में वैक्सीन फ्री में लगाई जाएगी और पूरा खर्च केंद्र सरकार उठाएगी।

कसौली स्थित सेंट्रल ड्रग लैबोरेटरी (CDL) ने सीरम इंस्टीट्यूट में बने छह करोड़ डोज को इंसानों पर इस्तेमाल करने की अनुमति दे दी है। सबसे पहले इन्हें ही सप्लाई किया जा रहा है। वहीं CDL ने कोवैक्सिन के भी 2.4 लाख डोज को मंजूरी दे दी है।

ड्रग रेगुलेटर ने 3 जनवरी को कोवीशील्ड और कोवैक्सिन को इमरजेंसी अप्रूवल दिया था। कोवीशील्ड को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनेका ने बनाया है, जिसे भारत में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया बना रही है। वहीं, भारत बायोटेक ने कोवैक्सिन को इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के साथ मिलकर बनाया है।

56.5 लाख डोज पुणे से 13 शहरों के लिए रवाना
नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि पुणे से नौ उड़ानों में कोवीशील्ड के 56.5 लाख डोज मंगलवार को देश के 13 शहरों में पहुंचाए जाएंगे। शुरुआती दो उड़ानें पुणे से दिल्ली और चेन्नई के लिए रवाना हुईं। एयर इंडिया, स्पाइस जेट, गोएयर और इंडीगो की कुल नौ फ्लाइट्स यह 56.5 लाख डोज दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता, गुवाहाटी, शिलॉन्ग, अहमदाबाद, हैदराबाद, विजयवाड़ा, भुवनेश्वर, पटना, बेंगलुरु, लखनऊ और चंडीगढ़ लेकर जाने वाली हैं।

रूसी वैक्सीन स्पुतनिक वी के तीसरे फेज के ट्रायल्स जल्द
डॉ. रेड्डी’ज लैबोरेटरी ने रूसी वैक्सीन स्पुतनिक वी के फेज-3 ट्रायल्स को जल्द शुरू करने की घोषणा की है। कंपनी ने रूसी वैक्सीन के फेज-2 ट्रायल्स सफलतापूर्वक पूरे कर लिए हैं। इसके बाद ही डेटा सेफ्टी मॉनिटरिंग बोर्ड (DSMB) ने इसे फेज-3 ट्रायल्स के लिए मंजूरी दी है। रशियन इन्वेस्टमेंट डेवलपमेंट फंड (RIDF) के साथ डॉ. रेड्डी लैबोरेटरी ने करार किया है। डॉ. रेड्डी लैबोरेटरी के को-चेयरमैन जीवी प्रसाद ने कहा कि डॉ. रेड्डी और RDIF मिलकर भारत में फेज-2/3 ट्रायल्स कर रहे हैं। भारत में हो रहे ट्रायल्स दुनियाभर में 31 हजार वॉलंटियर्स पर किए गए ट्रायल्स की ब्रिजिंग स्टडी होगी। फेज-2 ट्रायल्स में सेफ्टी रिजल्ट्स अच्छे रहे हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *