हैप्पी बर्थडे फराह खान:कर्ज चुकाने के लिए सितारों के पीछे नाचती थीं फराह खान, पड़ोसी के घर टीवी देखकर सीखा डांस और बन गईं बेस्ट कोरियोग्राफर


बॉलीवुड की बड़ी-बड़ी हस्तियों को अपने इशारों पर नचाने वाली फराह खान आज पूरे 56 सालों की हो चुकी हैं। कम उम्र में ही पिता के निधन के बाद फराह खान ने अपने परिवार की जिम्मेदारी उठाई और फिल्मों में स्टार्स के पीछे डांस करना शुरू किया था। आज अपनी मेहनत और टैलेंट से फराह खान सिर्फ पसंदीदा कोरियोग्राफर ही नहीं बल्कि एक कामयाब डायरेक्टर भी बन चुकी हैं हालांकि उनका ये सफर आसान नहीं था। फराह के जन्मदिन के खास मौके पर आइए जानते हैं कैसा रहा है फराह का बैकग्राउंड डांसर से बेस्ट कोरियोग्राफर बनने का सफर-

घर की जिम्मेदारी उठाने के लिए बनीं डांसर

फराह खान के पिता कामरान खान हिंदी फिल्मों बतौर निर्देशक और एक्टर काम किया करते थे। कामरान ने अपने खर्चे पर ऐसा भी होता है फिल्म बनाई थी। ये फिल्म बुरी तरह फ्लॉप हो गई और कामरान कर्जे में आ गए। मुश्किल हालातों में फराह के पिता ने घर के गहने और सभी कीमती सामान बेच दिया लेकिन फिर भी मुश्किलें कम नहीं हुईं। कुछ दिनों बाद फराह के पिता गुजर गए और घरवालों की पूरी जिम्मेदारी फराह खान पर आ गई। घर चलाने के लिए फराह ने कुछ लोगों की मदद से बतौर डांसर करियर की शुरुआत की और एक्टर्स के पीछे डांस करने लगीं।

पड़ोसियों के घर टीवी देखकर सीखती थीं डांस

फराह को डांस में दिलचस्पी तब आई जब माइकल जैक्सन का गाना थ्रिलर रिलीज हुआ। इस गाने से फराह इतनी प्रभावित हुईं कि उन्होंने डांस सीखने में रुचि दिखाई। फराह को डांस सीखने को शौक तो था मगर ये शौक पूरा करने के पैसे नहीं थे। गरीबी के चलते घर में ना ही टीवी था और ना ही वीसीआर और फोन जैसी अन्य सुविधाएं। ऐसे में अपने शौक को पूरी करने के लिए फराह ज्यादातर पड़ोसियों के घर में रहा करती थीं। पड़ोसियों के घर टीवी और वीसीआर था जिसके जरिए फराह माइकल जैक्सन का डांस कॉपी किया करती थीं। फराह हमेशा से ही माइकल जैक्सन को अपना आइडल मानती थीं जिनसे उन्होंने डांस सीखा था। गरीबी और सुविधाएं कम होने के बावजूद फराह ने डांस में महारत हासिल कर ली थी।

सरोज खान की वजह से मिला था फिल्मों में ब्रेक

फिल्मों में बतौर बैकग्राउंड डांसर काम करते-करते फराह सितारों को नए डांस स्टेप्स भी सिखाने लगीं। फराह जो जीता वहीं सिकंदर फिल्म में डांस कोरियोग्राफर सरोज खान की असिस्टेंट थीं। अचानक ही सरोज के बैक आउट कर लेने से फराह को पहला नशा गाना कोरियोग्राफ करने का मौका मिला। फिल्म रिलीज के बाद इस गाने को दर्शकों का खूब प्यार मिला और फराह को कुछ और गाने। कभी हां कभी ना फिल्म में गाना कोरियोग्राफ करते हुए फराह खान और शाहरुख खान की दोस्ती हो गई जहां फराह ने मौका मिलने पर एक्टर के साथ काम करने की बात कही।

अपने टैलेंट से फराह खान ने कोरियोग्राफी के साथ निर्देशन में हाथ आजमाया। वादे के अनुसार फराह ने 2004 में आई अपनी पहली डायरेक्टोरियल फिल्म मैं हूं ना में शाहरुख खान को कास्ट किया। ये फिल्म एक जबरदस्त हिट साबित हुई। इसके अलावा दोनों ने ओम शांति ओम और हैप्पी न्यू ईयर जैसी कई फिल्मों में साथ काम किया है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *